Sun. May 26th, 2024

[ad_1]

बालाघाट18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फॉरेक्स ट्रेर्डिंग और शेयर मार्केट के नाम से 4 से 6 महीनों में राशि डबल करने के नाम पर छत्तीसगढ़ के दुर्ग निवासी सहित 6 लोगों से 47 लाख 50 हजार रुपए की धोखाधड़ी हुई है। पुलिस ने मामले में हल्करे भाईयों विकास और सौरभ को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों भाई डबल मनी का खेल, मुख्यालय से लगे कोसमी से संचालित कर रहे थे। पुलिस की मानें तो लगभग 50 लोगों से डबल मनी के नाम पर धोखाधड़ी करने के मामले में अब तक की जांच में पुलिस को दो करोड़ 60 लाख रूपये का ट्रांजेक्शन मिला है। हालांकि पुलिस इसमें जांच कर रही है और जांच के बाद यह राशि बढ़ने की संभावना पुलिस ने जताई है।

गिरफ्तार दोनो ही हल्करे भाईयों विकास और सौरभ को गिरफ्तार करने के बाद माननीय न्यायालय में पेश किया। गौरतलब हो कि 12 मई को इस मामले की शिकायत के बाद कोतवाली पुलिस ने विकास हल्करे ने गिरफ्तार कर लिया था। जबकि सौरभ लिल्हारे फरार था। जिसमें पुलिस ने सौरभ लिल्हारे को भी गिरफ्तार कर लिया है।

कोतवाली पुलिस के पास 6 लोगों ने 4 से 6 महीने में राशि को डबल करने के मामले में शिकायत की थी। प्राइमरी जांच में 47 लाख 50 हजार रुपए का मामला सामने आया है, जिसमें पुलिस को मानना है कि अब की जांच में लगभग 50 इंवेस्टर के बारे में पता चला है। हल्करे भाईयों ने ढाई करोड़ रुपए की राशि की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। फारेक्स ट्रेर्डिंग और शेयर मार्केट में पैसा लगाने के नाम पर 4 से 6 महीने में राशि डबल करने का झांसा देकर दो भाई विकास और सौरभ ने लोगों से राशि इंवेस्ट कराई। उन्हें एक्सिस बैंक की चार माह में डबल राशि का चेक दिया। विकास शहर के एक निजी ऑटोमोबाईल्स में भी कार्य करता था।

भाई के साथ मिलकर चार माह में राशि डबल करने की जानकारी के बाद दुर्ग निवासी प्रमोद वाहने इसके संपर्क में आया। खुद और परिजनों के लाखों रुपए, राशि डबल करने के लालच में विकास को दिए थे। प्रमोद को एक्सिस बैंक का चेक देते हुए कहा था कि वह बैंक में ना लगाए, समय पूरा होने पर वह उसकी डबल राशि दे देगा। समय बीत जाने के बाद भी विकास और सौरभ से राशि नहीं मिलने पर प्रमोद ने उससे संपर्क किया, तो पहले तो वह आज कल में राशि देने की बात कहकर बहलाता रहा। उसके बाद पिता की जमीन बेचकर राशि देने की बात कही, लेकिन राशि के लंबे समय तक वापस नहीं करने पर प्रमोद ने इसकी शिकायत कोतवाली पुलिस में की।

जिसमें कोतवाली पुलिस ने जांच में पाया कि कोसमी निवासी दोनों भाई विकास और सौरभ हल्करे ने डबल मनी के नाम पर 47 लाख 50 हजार रुपए की धोखाधड़ी की है। फिर कोतवाली पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ 420, 120बी, 34 भादवि और अनियमित जमा योजना प्रतिबंध अधिनियम 21(1), 21(2) और 21(3) के तहत अपराध पंजीबद्व किया। इस मामले में कोतवाली थाना प्रभारी विकास सिंह का कहना है कि अब तक मामले में 6 लोगों की शिकायत पर 47 लाख 50 हजार रुपए की धोखाधड़ी का माला सामने आया है। आरोपियों से पूछताछ और जांच में 50 लोगों से आरोपी भाइयों ने लगभग 2 करोड़ 60 लाख रुपए की धोखाधड़ी का ट्रांजेक्शन मिला है। जिसमें दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर उन्हें न्यायालय में पेश किया है।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *