Sat. Jun 22nd, 2024

[ad_1]

ग्वालियरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • – जुलूस के दौरान पुलिस रही सतर्क

ग्वालियर में शनिवार को भगवान परशुराम का जन्म उत्सव बड़े ही धूम धाम से मनाया गया है। शहर में कई जगह से परशुराम का जल समारोह निकाला गया है। जल समारोहों में युवाओं का जोश देखते ही बन रहा था। भगवा झंडा हाथ में लिए जय-जय परशुराम के जयकारे लगाए जा रहे थे।

शहर में एक दर्जन से ज्यादा राजनीतिक, सामाजिक संगठनों ने जुलूस निकाले हैं। परशुराम के जल समारोह के रूट पर पुलिस काफी चौकस नजर आई है। वैसे भी शनिवार को ईद, परशुराम जयंती व अक्षय तृतीया होने से पुलिस काफी मुश्तैद थी।

बता दें कि शोभायात्रा प्रारंभ होने से पहले में रथ में विराजमान भगवान परशुराम जी की प्रतिमा का फूल बाग मैदान पर विधि विधान से पूजा अर्चन किया गया। उसके बाद शोभायात्रा शहर की 3 विधानसभा से होकर थाटीपुर चौराहे स्थित भगवान परशुराम चौक पर पहुंची। इस दौरान शहर वासियों ने शोभा यात्रा का जगह-जगह पर स्वागत भी किया। पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान परशुराम, भगवान विष्णु के छठवें अवतार माने जाते हैं। उनका धरती पर जन्म मानव कल्याण के लिए हुआ था। हिंदी पंचांग के अनुसार हर वर्ष वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की तृतीय को भगवान परशुराम की जयंती मनाई जाती है। परशुराम जयंती पर ग्वालियर के फूलबाग मैदान से शुरू हुआ जल समारोह पूरे शहर में ग्वालियर, ग्वालियर दक्षिण व ग्वालियर पूर्व विधानसभा से निकलते हुए थाटीपुर पर समाप्त हुआ है। चल समारोह में युवाओं ने पूरे जोश के साथ बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है।
युवा शक्ति ही समाज में बदलाव कर सकती है
परशुराम चल समारोह समिति के संयोजक धर्मेंद्र भारद्वाज का कहना है कि युवा शक्ति के द्वारा परशुराम जयंती पर चल समारोह निकाला जा रहा है। जिस दिन परशुराम का जन्मदिन होता है उसी दिन सब लोगों को प्रेरणा मिली थी इसलिए युवा ही प्रेरणा देते हैं युवा ही समाज में बदलाव करते हैं इसलिए युवाओं की अगबाई में ही यह चल समारोह निकाला जा रहा है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *