Sun. May 26th, 2024

[ad_1]

मुरैना8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार की देर शाम मुरैना आए। उनके साथ केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर भी मौजूद थे। इस पर मौके पर हैलीपेड पर पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में धर्मान्तरण बिल्कुल नहीं होने दूंगा। हाल में हुई घटनाओं की जांच की जा रही है तथा उनको सख्त दंड दिया जाएगा।

बता दें, कि मुरैना में मुरारीलाल शर्मा के बेटे सचिन की शादी का रिसेप्शन था। मुरारीलाल शर्मा पिछले 25 वर्षों से CM के सुरक्षा गार्ड हैं। CM के आने की खबर सुनकर भाजपा के पदाधिकारी व कार्यकर्ता हेलीपेड पर सीएम का स्वागत करने पहुंच गए लेकिन पुलिस ने उनको बेरीकेड के बीच में खड़ा कर दिया। इस बात को लेकर पदाधिकारियों ने सीएम व केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से शिकायत भी की। पदाधिकारियों का कहना था कि अभी तक उनको हेलीपेड पर जाकर मुख्यमंत्री का स्वागत करने को मिलता था लेकिन इस बार नवागत एसपी ने ऐसा नहीं होने दिया।

एसपी शेलेन्द्र सिंह व समारोह में मौजूद भीड़

एसपी शेलेन्द्र सिंह व समारोह में मौजूद भीड़

पत्रकारों से मिले सीएम

हेलीपेड पर ही पत्रकारों से रुबरु होते हुए CM शिवराज ने कहा कि हाल ही में प्रदेश में धर्मान्तरण की जो घटनाएं सामने आई हैं उनकी बारीकी से जांच की जा रही है तथा जांच में जो दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं सीहोर में तीन साल की बच्ची के बोरवेल में गिरने की घटना को लेकर उन्होंने कहा कि बच्ची बहुत छोटी है। हमने सेना भी लगाई है लेकिन पृकृति के सामने हम कभी-कभी कमजोर पड़ जाते हैं।

शादी में उमड़ी भीड़

CM के आने की खबर सुनकर मुरारीलाल शर्मा के बेटे के रिसेप्शन में भीड़ उमड़ पड़ी। सीएम के साथ फोटो खिंचवाने के लिए रिश्तेदारों में होड़ लगी थी लेकिन मंच तक पहुंचने में पुलिस ने अधिकांश को रोक दिया। भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं के अलावा पुलिस व मीडियाकर्मी भी मौजूद थे। सीएम व केन्द्रीय मंत्री ने दोनों वर-वधू को अपना आर्शीवाद व भेंट दी। दोनों ने पैर छूकर सीएम का आर्शीवाद लिया। इसके बाद दोनों मंत्रियों ने स्वल्पाहार लिया व हेलीपेड के लिए देर रात रवाना हो गए।

वर-वधू को भेंट देते सीएम

वर-वधू को भेंट देते सीएम

हर मोर्चे पर दिखी पुलिस की सख्ती

पिछली बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आने पर तत्कालीन पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी को जाना पड़ा था। यह बात नवागत SP शेलेन्द्र सिंह चौहान को बखूबी पता था लिहाजा इस पर उन्होंने जरूरत से अधिक सख्ती कर दी जिसकी शिकायत भाजपा पदाधिकारियों ने सीएम से करने से नहीं चूके। पदाधिकारी इस बात पर नाराज थे कि हेलीपेड पर उन्हें सीएम का स्वागत नहीं करने दिया।

जाते समय पदाधिकारियों से चर्चा करते हुए सीएम

जाते समय पदाधिकारियों से चर्चा करते हुए सीएम

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *