Fri. Jun 21st, 2024

[ad_1]

मुलताई2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बैतूल जिले की मुलताई तहसील क्षेत्र के छोटे से गांव पिपरिया का युवक लोकेश चिकाने पढ़ाई के लिए यूरोप जाएगा। उसे पढ़ाई के लिए यूरोपीय आयोग ने 43.50 लाख रुपए की स्काॅलरशिप दी है। लोकेश यूरोप के चार देशों में कृषि में पीजी की पढ़ाई करेगा। देश से इसके लिए सिर्फ दो विद्यार्थियों का चयन हुआ है। इसमें एक छात्रा है। लोकेश अभी केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय त्रिपुरा इंफाल में पढ़ाई कर रहा है।

लोकेश के पिता रामेश्वर चिकाने खेती करते हैं। रामेश्वर ने बताया कि उनका बेटा लोकेश का चयन यूरोपीय आयोग की छात्रवृत्ति के लिए हुआ है। यह छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाला लोकेश प्रदेश का पहला विद्यार्थी है। इसके लिए विश्व से कुल 17 विद्यार्थी चयनित हुए हैं। लोकेश की इस उपलब्धि पर परिजनों इस्ट मित्रों ने उन्हें बधाई दी है।

दो साल यूरोप में रहेगा

केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय मत्स्य कालेज लेंबुचेरा त्रिपुरा इंफाल में अध्यनरत अंतिम वर्ष के स्नातक छात्र लोकेश पवार (2018-22 बैच) को प्रतिष्ठित इरास्मस मुंडस छात्रवृत्ति के लिए चुना गया है। इरास्मस मुंडस स्कॉलरशिप (यूरोपीय आयोग द्वारा) दो साल के इंटीग्रेटेड ज्वाइंट पोस्ट ग्रेजुएशन प्रोग्राम यानी इंटरनेशनल मास्टर्स इन मरीन बायोलॉजिकल रिसोर्सेज (IMBRSea) 2023 के लिए 43.50 लाख रुपए की छात्रवृत्ति के लिए चयनित हुआ है। वह 4 यूरोपियन देशों में अध्ययन करेगा। इनमें सेमेस्टर 1- पुर्तगाल, सेमेस्टर 2 – नॉर्वे, सेमेस्टर 3- बेल्जियम और सेमेस्टर 4- नीदरलैंड में पढ़ेगा।

भोपाल में की 12वीं की पढ़ाई

लोकेश की उत्कृष्ट उपलब्धि का उल्लेख करते हुए कॉलेज के डीन प्रोफेसर रतन कुमार साहा ने इस शानदार सफलता में उनकी भूमिका के लिए सभी शिक्षण और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को धन्यवाद दिया। प्रोफेसर साहा ने इस कॉलेज के विकास में निरंतर सहयोग के लिए केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय (इम्फाल) के कुलपति डॉ अनुपम मिश्रा के गतिशील नेतृत्व की भी सराहना की। लोकेश ने अपनी 12वीं तक की पढ़ाई भोपाल के स्कूल से की थी। इसके बाद वह इंफाल में अध्ययनरत है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *