Fri. May 24th, 2024

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Neemuch
  • Human Rights Commission Sought Response In 30 Days; Congress Leader’s Brother Accused Of Taking Bribe

नीमच39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मनासा के बीआरसी केंद्रों पर कार्यरत कर्मचारी अर्जुन पिता जगदेव सिंह राजपूत के आत्महत्या मामले को मध्यप्रदेश मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान में लेकर कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को नोटिस जारी कर 30 दिन में जवाब मांगा है।

दरअसल मनासा बीआरसी केन्द्र के भृत्य कर्मचारी अर्जुन पिता जगदेवसिंह राजपुत (54) निवासी रामपुरा लंबे समय से कार्य करते थे। बीते गुरुवार को मनासा बीआरसी केन्द्र में आंवले के पेड़ पर फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली था। मृतक के जेब से थाना प्रभारी मनासा के नाम लिखा हुआ एक सुसाइड नोट मिला था, जिसमें मृतक ने जिला शिक्षा अधिकारी के बाबु अनिल गोयल पर 60 हजार रूपए लेने के बावजूद लंबे समय से अटकी 10 से 12 लाख रुपए एरियर की राशि नहीं दिलवाए जाने पर मानसिक रूप से प्रताड़ित होकर आत्महत्या करना बताया था।

मृतक ने यह लिखा सुसाइड नोट में

मनासा थाना प्रभारी महोदय के नाम मैं अर्जुन सिंह चौहान पूरे होश हवास में लिख रहा हूं कि मेरा दस लाख रुपए का निराकरण नहीं होने से मेरे मकान का काम अधूरा पड़ा है और मुझे मेरा एरियर दिलवाने जिला शिक्षा विभाग के बाबू अनिल गोयल ने साठ हजार रुपए ले रखे हैं। बावजूद मेरा एरियर पास नहीं कराया। मैं बहुत टेंशन के कारण आत्महत्या कर रहा हूं। इसमें मेरे परिवार की कोई गलती नहीं है। परिवार को परेशान न करें। मैं किसी प्रकार का कोई कर्ज नहीं मांगता। श्रीमान थाना प्रभारी महोदय सुसाइड नोट की एक कापी मेरे पुत्र को देवें और मेरा एरियर मेरे पुत्र को देने की कृपा करें।

कांग्रेस नेत्री का भाई है आरोपी अनिल गोयल

मृतक अर्जुन ने जिस शिक्षा विभाग के कर्मचारी अनिल गोयल पर 60 हजार रुपए की रिश्वत मांगने के आरोप लगाते हुए आत्महत्या की है, वह कांग्रेस नेत्री मधु बंसल का भाई है।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *