Sun. May 26th, 2024

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Said Brother, The Mayor Is Not A Eunuch, He Is A Man, Whoever You Bring, Will Welcome Everyone.

सागरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सागर में डेयरी विस्थापन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जिसको लेकर नगर निगम ने शहर से पशुओं को पकड़ने की कार्रवाई शुरू की है। इसी कार्रवाई के दौरान पशुपालकों ने विरोध किया तो महापौर प्रतिनिधि डॉ. सुशील तिवारी विवादित बयान दे दिया। उन्होंने कलेक्टर दीपक आर्य की मौजूदगी में कहा कि भाई साहब लोह पुरुष हैं हम, सीना लोहे का है। जिसको जितने लाना लाओ, सबका अच्छे से स्वागत करेंगे हम, भाईसाहब कमला बुआ नहीं, किन्नर नहीं है महापौर, मर्द है। जिसको जितने लाना लाओ, हम सबका अच्छे से स्वागत करेंगे। महापौर प्रतिनिधि डॉ. तिवारी की इस बातचीत का वीडियो सामने आया है। वीडियो सामने आते ही किन्नर समाज ने विरोध जताया है। कमला बुआ की उत्तराधिकारी किन्नर किरण ने कहा कि डॉ. तिवारी माफी मांगें। नहीं तो विरोध करेंगे।

दरअसल, 15 मई को डेयरी विस्थापन के तहत सागर शहर में कलेक्टर दीपक आर्य, एसपी अभिषेक तिवारी अधिकारियों के साथ शहर में निकले थे। इस दौरान उनके साथ महापौर प्रतिनिधि डॉ. सुशील तिवारी भी थे। डेयरी विस्थापन को लेकर पशुओं को पकड़ने और पशुपालकों को समझाइश देने की कार्रवाई की जा रही थी। तभी कुछ पशुपालकों ने कार्रवाई को लेकर विरोध जताया। इसी दौरान कलेक्टर के सामने ही महापौर प्रतिनिधि के बोल बिगड़ गए। सामने आया वीडियो इसी कार्रवाई के दौरान का बताया जा रहा है। वीडियो सामने आते ही किन्नर समाज ने आपत्ति लेते हुए विरोध जताया है।
किन्नर समाज की मुखिया बोलीं माफी मांगें
महापौर प्रतिनिधि डॉ. तिवारी का वीडियो सामने आने के बाद पूर्व महापौर कमला बुआ की उत्तराधिकारी किन्नर किरण ने कहा कि कमला बुआ अब इस दुनिया में नहीं हैं। इस तरह उनका नाम नहीं उछालना चाहिए। वे जनता से चुनी महापौर थीं। उन्होंने बहुत गलत बोला है। वे माफी मांगें। माफी नहीं मांगी तो भविष्य में उनके खिलाफ किन्नर समाज से प्रत्याशी उतारकर चुनाव लड़ूगीं।

डेयरी विस्थापन की कार्रवाई को लेकर शहर में निकले थे अधिकारी।

डेयरी विस्थापन की कार्रवाई को लेकर शहर में निकले थे अधिकारी।

महापौर प्रतिनिधि बोले-वीडियो को एडिट कर चलाया जा रहा
वीडियो सामने आने के बाद विवाद बड़ा तो महापौर प्रतिनिधि डॉ. सुशील तिवारी सामने आए। उन्होंने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर मेरा एक एडिट किया हुआ वीडियो चलाया जा रहा है जो शहर में पहली बार शुरू हुई ऐतिहासिक डेयरी विस्थापन की मुहिम की कार्रवाई के दौरान का है। उस संबंध में स्पष्ट करना चाहता हूं कि शहर से डेयरी विस्थापन का मुद्दा बड़ा मामला है। शहर की 3.50 लाख की आबादी इससे परेशान है। अक्सर शहर में पशुओं की लड़ाई, दौड़ में दुर्घटनाएं भी होती रहती हैं। दो दशक से डेयरी विस्थान की प्रक्रिया चल रही है। जब प्रशासन और पूरा अमला डेयरियों से पशु उठाने पहुंचा तो कुछ पशुपालक मौके पर दवाब डाल रहे थे कि किन्नर कमला बुआ के समय भी इसकी मुहिम चली, वह भी नहीं हटा पाईं हमें।

वे धमकी में कह रहे थे कि नगर निगम में पशु छोड़ देंगे। इस पर मैंने सिर्फ यही कहा था कमला बुआ अब महापौर नहीं हैं। चूंकि उन्होंने कमला बुआ का जिक्र किया, इसलिए मेरे मुंह से भी बुआ का नाम निकल गया। जहां तक किन्नर समाज का विषय है तो मैं व्यक्तिगत रूप से सबसे ज्यादा उनका सम्मान करता हूं। हमारे शुभ कार्यों में उनकी उपस्थिति होती है। मैंने उनकी भावनाओं को कोई ठेस नहीं पहुंचाई है। यदि जाने-अनजाने में किसी की भावनाओं को ठेस पहुंची हो तो मैं खेद प्रकट करता हूं।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *