Tue. May 28th, 2024

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • EC Member Agitated Over Allegations Of Corruption In Affiliation Of B.Ed Colleges, Staged A Sit in

ग्वालियर34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
जमीन पर बैठे कार्यपरिषद के सदस्य और बात करते कुलपति प्रो अविनाश तिवारी - Dainik Bhaskar

जमीन पर बैठे कार्यपरिषद के सदस्य और बात करते कुलपति प्रो अविनाश तिवारी

  • सेवा निवृत जज से निष्पक्ष जांच कराने की मांग

ग्वालियर के जीवाजी यूनिवर्सिटी में शनिवार दोपहर कार्य परिषद जमीन पर आ गई। मतलब बीएड कॉलेजों को दी गई संबंद्धता में लेनदेन के आरोपों पर सदस्यों ने हंगामा कर दिया। सदस्य वीरेन्द्र भदौरिया, शिवेन्द्र राठौर कुलपति के दफ्तर के बाहर जमीन पर बैठ गए। उनकी मांग थी कि लेनदेन (भ्रष्टाचार) के आरोपों से ईसी सदस्यों की छवि धूमिल हुई है। इसलिए इसकी जांच कराई जानी चाहिए।

धरना दे रहे सदस्यों के साथ खुद कुलपति भी आकर बैठ गए। मांग को जायज माना, लेकिन कहा कि पहले इन खबरों को छापने का समाचार पत्रों पर क्या आधार था यह पता करने के बाद जांच कराएंगे, जबकि सदस्यों का कहना था कि पहले जांच कराई जाए। कुलपति मनाकर सदस्यों को बैठक तक ले गए, लेकिन कुछ देर बाद दोनों सदस्य फिर बैठक का बहिष्कार कर बाहर निकल गए।

जीवाजी विश्वविद्यालय में चलता रहा हंगामा

जीवाजी विश्वविद्यालय में चलता रहा हंगामा

यह है पूरा मामला
– जीवाजी यूनिवर्सिटी द्वारा बीएड कॉलेजों की संबंद्धता में लेनदेन का आरोप लगा है। इससे संबंधित कुछ खबरें मीडिया में प्रकाशित हुई है। मामला का खुलासा होने के बाद सुबह 11 बजे अखिल विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने जांच कमेटी की मांग को लेकर ज्ञापन दिया। इसके बाद कार्य परिषद की बैठक होना थी। कार्य-परिषद की बैठक शुरू होने से पहले वंदे मातरम गायन हुआ। बैठक शुरू होती उससे पहले की ईसी मेंबर विवेक भदौरिया, शिवेन्द्र सिंह राठौर ने कहा कि बीएड कॉलेजों की संबंद्धता को लेकर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। इससे कार्य परिषद के सदस्यों की छवि खराब हुई है। यह आरोप हमारे दामन पर लगे हैं। हम अपने आपको निर्दोष होने साबित करने के लिए जांच कमेटी की मांग करते हैं। इसके बाद दोनों सदस्य बैठक से बाहर निकलक कुलपति प्रो अविनाश तिवारी के दफ्तर के बाहर जमीन पर बैठ गए। उनका कहना था कि पहले जांच कमेटी बनाई जाए उसके बाद ही वह बैठक में शामिल होंगे।
कुलपति समझाकर दोनों को बैठक में ले गए
– ईसी मेंबर विवेक भदौरिया, शिवेन्द्र सिंह राठौर जब जमीन पर बैठकर धरना दे रहे थे तो कुलपति प्रो अविनाश तिवारी के उनके पास आकर जमीन पर बैठ गए और कहा कि उनकी मांग जायज है मैं भी धरना में शामिल हूं। पर कुलपति का कहना था कि पहले वह मीडिया से पता लगा लें कि उन्होंने किस आधार पर इन खबरों को प्रकाशित किया है। पर ईसी मेंबर विवेक भदौरिया ने कहा है कि हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में जांच कमेटी बनाकर जांच कराई जाए। तब तक मैं कार्यपरिषद की बैठक में हिस्सा नहीं लूंगा। पर किसी तरह उनको मनाकर कुलपति वापस बैठक में ले गए।
बैठक का बहिष्कार कर पांच मिनट बाद बाहर निकल आए
कुलपति प्रो. अविनाश तिवारी भी कार्यपरिषद के सदस्यों को मनाकर कार्य परिषद की बैठक में वापस ले आए। पर पांच मिनट बाद फिर दोनांे सदस्य विवेक भदौरिया, शिवेन्द्र राठौर बैठक का बहिष्कार कर बाहर निकल आए। उनके पीछे -पीछे प्रदीप शर्मा व संजय यादव भी बाहर निकले , लेकिन कुछ देर बाद वह वापस बैठक में पहुंच गए। पर बीएड कॉलेजों को संबंद्धता देने का मुद्दा अब काफी बड़ा होता जा रहा है।
मैं जांच कमेटी बनाने के लिये तैयार हूं
कुलपति प्रो. अविनाश तिवारी ने कहा है कि मैं जांच कमेटी बनाने के लिये तैयार हूं इसके लिये मैं जांच कमेटी बनाने के लिये सेवानिवृत्त न्यायधीश के नाम की सहमति के लिये पत्र लिखूंगा और इसके बाद जांच कमेटी बनेगी।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *