Sun. May 26th, 2024

[ad_1]

बैतूलएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश के छतरपुर के लवकुश नगर में पदस्थ डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे ने छुट्टी नहीं मिलने से आहत होकर अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने प्रमुख सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग को हाथ से लिखा इस्तीफा भेजा है। दरअसल SDM पद पर तैनात निशा बांगरे ने अपने घर के उद्घाटन और बैतूल के आमला में 25 जून को होने वाले एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अनुमति मांगी थी, अनुमति नहीं मिलने पर उन्होंने इस्तीफा देने का कदम उठाया।

25 जून को बैतूल के आमला में अंतर्राष्ट्रीय सर्वधर्म शांति सम्मेलन और विश्व शांति पुरस्कार सम्मान समारोह आयोजित होने जा रहा है। इसमें शामिल होने के लिए डिप्टी कलेक्टर ने अनुमति मांगी थी।

25 जून को बैतूल के आमला में अंतर्राष्ट्रीय सर्वधर्म शांति सम्मेलन और विश्व शांति पुरस्कार सम्मान समारोह आयोजित होने जा रहा है। इसमें शामिल होने के लिए डिप्टी कलेक्टर ने अनुमति मांगी थी।

दैनिक भास्कर से चर्चा में निशा बांगरे ने कहा कि वे इस बात से आहत है कि उन्हें उन्हीं के घर के उद्घाटन में शामिल होने के लिए अनुमति नहीं दी जा रही है। उन्होंने लेटर में लिखा कि –

‘उपरोक्त विषयांतर्गत मैं सूचित करना चाहती हूं कि मेरे स्वयं के मकान के उद्घाटन / शुभारंभ कार्यक्रम में विभाग द्वारा मेरे उपस्थित न होने देने के विषयांतर्गत के पत्र से मैं हृदय की गहराई से अत्यधिक आहत हूं। उक्त कार्यक्रम में विश्व शांतिदूत ‘तथागत बुद्ध’ की अस्थियों के भी दर्शन लाभ करने की अनुमति न देने से मेरी धार्मिक भावनाओं को अपूर्णनीय क्षति पहुंची है।

अत: मैं अपने मौलिक अधिकार, धार्मिक आस्था एवं संवैधानिक मूल्यों से समझौता करके अपने डिप्टी कलेक्टर के पद पर बने रहना उचित नहीं समझती हूं। इसीलिए मैं अपने डिप्टी कलेक्टर पद से आज दिनांक 22/06/23 को तत्काल प्रभाव से इस्तीफा देती हूं।

छुट्टी नहीं मिलने से आहत होकर डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे ने प्रमुख सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग को इस्तीफा भेजा है।

छुट्टी नहीं मिलने से आहत होकर डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे ने प्रमुख सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग को इस्तीफा भेजा है।

यह है पूरा मामला

गगन मलिक फाउंडेशन 25 जून को बैतूल के आमला में अंतर्राष्ट्रीय सर्वधर्म शांति सम्मेलन और विश्व शांति पुरस्कार सम्मान समारोह आयोजित करने जा रहा है। इसके अलावा अन्य कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे ने अनुमति मांगी थी। बांगरे इन कार्यक्रमों में केंद्रीय भूमिका के रूप में नजर आ रही थी।

डिप्टी कलेक्टर बांगरे ने आरोप लगाया है कि संभवतः उन्हें राजनीतिक कारणों से इन कार्यक्रमों में शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई है। यहां तक कि उनके खुद के घर का उद्घाटन कार्यक्रम भी है। इन कार्यक्रमों में शामिल नहीं होने देना ठीक नहीं है। उन्होंने बताया कि प्रशासन ने अब तक कार्यक्रम को लेकर भी कुछ नहीं कहा है। अगर एन मौके पर कार्यक्रम रोका जाता है तो तथागत बुद्ध के अनुयायी आंदोलन करेंगे।

बता दें कि आमला में आयोजित कार्यक्रम में श्रीलंका के कानून मंत्री सहित लगभग 11 देशों के सर्वधर्म प्रतिनिधि शामिल होंगे। साथ ही श्रीलंका से तथागत बुद्ध की अस्थियां भी आएगी।

निशा बांगरे संविधान को साक्षी मानकर शादी करने को लेकर सुर्खियों में आई थीं।

निशा बांगरे संविधान को साक्षी मानकर शादी करने को लेकर सुर्खियों में आई थीं।

निशा बांगरे को भेजी चिट्ठी

डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे ने 19 मई को मप्र शासन के सामान्य प्रशासन विभाग को अनुमति के लिए आवेदन दिया था, लेकिन विभाग ने इसे मप्र सिविल सेवा आचरण नियमों का हवाला देते हुए अनुमति नहीं दी। इस संबंध में विभाग के अवर सचिव (कार्मिक) एसके सेंद्रे ने अनुमति नहीं देने का पत्र 15 जून को डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे को भेजा था।

निशा बांगरे आमला क्षेत्र में कई सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल होती रही हैं।

निशा बांगरे आमला क्षेत्र में कई सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल होती रही हैं।

राजनीति में आने की भी चर्चा

मूलतः बालघाट जिले की रहने वाली निशा बांगरे आमला के एयरोड्रम के पास अपना मकान बना रही है। निशा बांगरे को लेकर कई बार ऐसी चर्चाएं होती हैं कि वह राजनीति में आ सकती है। बैतूल में डिप्टी कलेक्टर रहते हुए वे आमला विधानसभा क्षेत्र में बेहद ज्यादा सक्रिय रहीं थी। इसके बाद भोपाल और छतरपुर में पदस्थ रहने के दौरान भी उनका आमला से नाता जुड़ा रहा। वो यहां आयोजित सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रमों में भाग लेती रही हैं।

इससे ऐसे चर्चाएं है कि वे आमला से विधानसभा चुनाव लड़ सकती है, लेकिन वह किस पार्टी से उम्मीदवार होगी यह अब तक साफ नहीं हो सका है। हालांकि निशा बांगरे ने खुले तौर पर कभी राजनीति में आने की बात नहीं कही।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *