Sun. May 26th, 2024

[ad_1]

रीवा37 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रीवा शहर के ट्रांसपोर्ट नगर में मिला संदिग्ध शव हादसा नहीं बल्कि हत्या थी। सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस हत्या के आरोपियों तक पहुंच गई है। एक दर्जन लोगों से हुई पूछताछ में पता चला कि रात में अंबे ट्रेवल्स की बस आकर ट्रांसपोर्ट नगर में खड़ी हुई। बस का अगला पहिया पंचर था। ऐसे में चालक ने खलासी को तिवारी ट्रेवल्स के डिपो से जैक लाने के लिए भेजा।

वहां खलासी पहुंचा तो डिपो में कोई नहीं था। ऐसे में जैल निकालकर बस की ओर आने लगा। इसी बची आधा दर्जन शराबियों ने चोर समझकर घेर लिया। खलासी ने होशियारी का परिचय देकर कहा कि चालक ने जैल लेने के लिए भेजा था। ऐसे में आधा दर्जन असमाजिक तत्व खलासी के साथ चालक के पास पहुंचे। वहां सभी शराबी एकत्र होकर चालक को चोरी करवाने का आरोप लगाकर पीटने लगे।

राक्षसों की तरह रात में चार घंटे पीटे
सूत्रों में चर्चा है कि 6 लोगों ने मिलकर चालक अशोक दाहिया पुत्र दद्दी दाहिया 28 वर्ष निवासी पोंडी गांव थाना कोठी जिला सतना को राक्षसों की तरह 3 जून व 4 जून की दरमियानी रात 12 बजे से सुबह 4 बजे तक पीटे है। दावा है कि चालक को लाठी, डंडा, टाइलीबर व लात घूसों से मवेशियों की तरह पीटा है। कहते है कि तालीबान भी इतने क्रूर नहीं है। जितनी क्रूरता चालक के साथ की गई है।

ट्रांसपोर्ट नगर के कई लोग जानते थे वारदात, पुलिस से छिपाए
बता दें कि चालक की हत्या वाली घटना ट्रांसपोर्ट नगर के कई लोग जानते थे, लेकिन शुरुआत में पुलिस का सहयोग नहीं किए है। पुलिस को एक जगह से सीसीटीवी फुटेज मिला है। जिससे अंधी हत्या से पर्दा हट गया है। पुलिस ने 4 संदेहियों को उठा लिया है। जबकि दो मुख्य आरोपी अभी फरार है। पुलिस के अफसर पूरे घटना की पल पल की मॉनिटरिंग कर रहे है।

कत्ल खाना बना, ट्रांसपोर्ट नगर
गौरतलब है कि रीवा का ट्रांसपोर्ट नगर कत्ल खाना बन गया है। यहां हर माह कोई न कोई मर्डर होता है। 2 मई की रात भी किसी को मवेशियों की तरह पीटा गया था, लेकिन शिकायतकर्ता का पता नहीं चला है। स्थानीय लोगों का कहना है कि ट्रांसपोर्ट नगर में जल्द से जल्द पुलिस चौकी खोली जाए। नहीं यहां लोगों की दिन दहाड़े हत्या होगी। वहीं दूसरी तरफ शराब दुकान के कारण आए दिन विवाद होते है।

हत्या की आशंका:रीवा के ट्रांसपोर्ट नगर में मिली संदिग्ध परिस्थितियों में खलासी की लाश, शरीर में दिखे गहरे जख्म

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *