Thu. Jun 13th, 2024

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Selfie Points Were Installed At The Main Places Of The Districts, Administered Oath For Equal Status To Women

भोपाल23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पीएम नरेन्द्र मोदी ने अपने भाषण में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर माता-पिता से पूछा था कि जिस तरह आप अपनी बेटियों को कहीं भी आने-जाने में रोकटोक करते हैं, उसी तरह क्या कभी बेटों के लिए किया है। इस बात को संज्ञान में लेते हुए महिला सुरक्षा को लेकर मध्यप्रदेश में अभियान ‘अभिमन्यु’ चलाया जा रहा है। जिसका मुख्य उद्देश्य लैंगिक समानता एवं संस्कारों का ज्ञान दिया जाना है। जिसके लिए जिले के मुख्य जगहों पर ‘अभिमन्यु’ के पहचान चिन्ह का सेल्फी पाइंट लगाया जा रहा है।

बता दें मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिला अपराधों के रोकथाम के लिए डीजीपी सुधीर कुमार सक्सेना के मार्गदर्शन एवं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (महिला सुरक्षा) प्रज्ञा ऋचा श्रीवास्तव के दिशा-निर्देशन में बालकों/पुरुषों को जागरूक करने के लिए जागरूकता अभियान “अभिमन्यु” चलाया जा रहा है। अभियान का मुख्य उद्देश्य लैंगिक समानता एवं संस्कारों का ज्ञान दिया जाना है। महिलाओं के प्रति संवेदनशील बनाने का कोशिश करना है।

अभियान 'अभिमन्यु' के पहचान चिन्ह का कटआउट का सेल्फी पाइंट जिलों के प्रमुख जगहों पर लगाया गया है।

अभियान ‘अभिमन्यु’ के पहचान चिन्ह का कटआउट का सेल्फी पाइंट जिलों के प्रमुख जगहों पर लगाया गया है।

जागरूकता अभियान का पहला चरण 12 जून से 19 जून तक प्रदेश के सभी जिलों में चलाया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत महिला सुरक्षा शाखा, पुलिस मुख्यालय द्वारा तैयार किया गया। अभियान ‘अभिमन्यु’ के पहचान चिन्ह का कटआउट का सेल्फी पाइंट जिलों के प्रमुख जगहों पर लगाया गया है। कटआउट के साथ महिला हेल्पलाइन नंबरों का प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है। अभियान के दौरान ‘अभिमन्यु’ के पहचान चिन्ह कटआउट एवं फ्लैक्स लगाकर आम लोगों को लैंगिक भेदभाव दूर कर महिलाओं को उनकी योग्यता अनुरुप समान अवसर उपलब्ध कराने संबंधी शपथ दिलाई जा रही है।

शिक्षित एवं संस्कारवान युवक अभियान की पहचान
इस अभियान की पहचान 16 से 25 वर्षीय एक शिक्षित एवं संस्कारवान युवक हैं। जो सामाजिक बुराइयों जैसे- अशिक्षा, नशा, अश्लीलता, दहेज, भ्रूण हत्या, असंवेदनशीलता, रूढ़िवादिता एवं पूर्वाग्रह को तोड़कर शिक्षा एवं लैंगिक समानता के आधार पर समाज में महिलाओं को सहअस्तित्व प्रदान करता है।

इस तरह का सेल्फी पाइंट बनाया जा रहा।

इस तरह का सेल्फी पाइंट बनाया जा रहा।

अभियान का नाम अभिमन्यु क्यों?
अभियान का नाम अभिमन्यु इसलिए रखा गया क्योंकि अभिमन्यु ने माँ के गर्भ में रहकर पिता से चक्रव्यू तोड़ने का ज्ञान प्राप्त किया था। इस समय का अभिमन्यु जानता है कि नशा करना, दहेज प्रथा, भ्रूण हत्या, घरेलू हिंसा, सोशल मीडिया पर फैली अश्लीलता जैसी बुराइयां समाज में महिला सम्मान व सुरक्षा के खिलाफ है। वह यह भी जानता है कि शिक्षित एवं संस्कारवान महिला पुरुष किसी भी समाज के स्वस्थ सुरक्षित वातावरण एवं उन्नति का परिचय कराने वाला है। यह अभियान युवाओं को बेहतर समाज के बनाने में अच्छा प्रयास है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *