Thu. Jun 13th, 2024

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Seoni
  • Only One Patient Was Found In The District This Year, 2 Years Ago There Were 116 Patients, There Is A Need To Be Careful

सिवनी34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आज राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाया जा रहा है। सिवनी जिले में वर्ष 2021 में डेंगू बीमारी के 116 मरीज मिले थे। जहां इस वर्ष मात्र 1 मरीज डेंगू पॉजिटिव रहा। वहीं इस साल मौसम में आए बदलाव और बेमौसम वर्षा के कारण डेंगू की बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है। लेकिन अब तक केवल एक ही मरीज सामने आया है।

बीते कुछ दिनों से लगातार हुई बेमौसम बारिश के कारण कई स्थानों पर पानी एकत्रित हो गया है। ऐसे में मच्छर पनपने की संभावना बढ़ गई है। क्योंकि 45 डिग्री सेल्सियस कम तापमान में डेंगू के लारवा नष्ट नहीं हो पाते। वहीं 45 डिग्री से ज्यादा पारा होने पर लारवा नष्ट हो जाता है।

जिला मलेरिया अधिकारी रामजी भलावी ने कहा है कि 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू की रोकथाम दिवस के रूप में मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य डेंगू के बारे में जागरूकता पैदा करना है। यह भी कहा कि संक्रमित व्यक्ति से यह बीमारी फैल सकती है। जिले में आसपास के जिलों व महानगरों से यदि कोई डेंगू व मलेरिया से ग्रसित बीमार आता है तो अन्य व्यक्ति को भी बीमार कर सकता है।

ऐसे व्यक्ति को यदि सामान्य मच्छर काटता है और वही मच्छर दूसरे व्यक्ति को काट लेता है तो स्वस्थ व्यक्ति भी संक्रमण का शिकार हो सकता है। जिले में कई जगह 8 से 10 दिन का पानी भरा हुआ है। और ग्रामीण अंचलों में घर के आसपास कच्ची सड़कों में 1 सप्ताह से अधिक पानी भरे होने के कारण मच्छरों की संख्या बढ़ने की संभावना है। जिससे बीमारी का खतरा भी बढ़ रहा है।

वहीं डॉक्टरों की सलाह है कि सावधानी की आवश्यकता है।और जन जागरूकता तथा जानकारी की कमी के कारण हर साल कई लोग डेंगू बुखार की चपेट में आ जाते हैं। बीमारी से बचाव के लिए सावधानी बरतना आवश्यक है।

डॉक्टरों का यह भी कहना है कि डेंगू मच्छर साफ पानी में पनपता है। यह मच्छर सामान्यतः दिन में काटता है। यह जमा हुए पानी जैसे कूलर,टंकी या घर में खुले में रखे बर्तन जिनमें कई दिनों से पानी एकत्रित है,ऐसी जगह में डेंगू के मच्छर पनपने की संभावना अधिक होती है।

इसके लिए सप्ताह में एक बार जमे हुए पानी को हटा देना चाहिए। डेंगू से पीड़ित व्यक्ति को बुखार, सर दर्द,जोड़ों में दर्द, जी मचलाना, उल्टी होना, आंखों के पीछे दर्द, शरीर पर लाल धब्बे या चकते का निशान, नाक व मसूड़ों से रक्त स्राव, काला मल आना सहित अन्य डेंगू के लक्षण हो सकते हैं। इस तरह से पीड़ित व्यक्ति को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर उपचार कराना चाहिए।

डेंगू से बचाव के लिए घर में साफ सफाई पर ध्यान रखना, कूलर, गमले, बर्तन तथा जिन जगहों में कई दिनों से पानी जमा हुआ है उन्हें हटाने की आवश्यकता है। साथ ही यह कोशिश की जाना चाहिए कि लंबे समय तक पानी एकत्रित ना रह सके। रात में सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करना चाहिए। शरीर को कपड़े से ढक कर रखना चाहिए। जहाँ पानी एकत्रित है वहां कीटनाशक का प्रयोग करना चाहिए।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *