Tue. May 21st, 2024

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Betul
  • Ward Residents Are Vocal About The Filth. Met The CMO. Enumerated The Problems. Handed Over Memorandum Of Demands.

बैतूल34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बैतूल के नपा अमले की लापरवाही के चलते नगर पालिका क्षेत्र में गंदगी पसरी हुई है। साफ-सफाई को लेकर नगर पालिका के आला अधिकारी उदासीन है। नगर पालिका क्षेत्र अंतर्गत आने वाले कृष्णपुरा वार्ड में सफाई व्यवस्था के हाल बहुत ही बुरे हैं। नपा और भाजपा पार्षद के उदासीन रवैए को लेकर कृष्णपुरा वार्ड के लोगों में नाराजगी पनपने लगी है।

शहर के घनी आबादी वाला कृष्ण पुरा वार्ड में बजबजातीं नालियां सफाई व्यवस्था की पोल खोलती नजर आ रहीं हैं। मोहल्ला वासियों के मुताबिक नगर पालिका व प्रशासन की ओर से ज्यादातर कार्य सिर्फ कागजों पर ही किया जाता है। मूलभूत समस्याओं से यह वार्ड आज भी जूझ रहा है। दुर्दशा के कारण सुविधाओं के लिए लोग तरस रहे हैं। हालत है कि नालियां बजबजा रही हैं और ओवरफ्लो हैं। इससे लोगों के स्वास्थ्य पर खराब असर पड़ रहा है।

पानी निकासी के लिए सीवर का निर्माण न होने व साफ-सफाई न होने के कारण नालियां बजबजा रही हैं। इतना ही नहीं नाली का गंदा पानी लोगों के घरों में घुस गया है। आरोप है कि वार्ड के भाजपा पार्षद समस्या की ओर ध्यान देते नहीं और न ही सफाईकर्मी नजर आते हैं। इसकी शिकायत नगर पालिका परिषद से लेकर जिला प्रशासन तक की गई लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी।

नपा सीएमओ से मिले वार्डवासी

परेशान वार्ड वासियों ने शुक्रवार को मुख्य नगरपालिका अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर वार्ड में नवीन एवं गुणवत्ता युक्त नाली निर्माण करने की मांग की है। वार्ड वासियों ने बताया कि पानी की निकासी नहीं होने के कारण नाली का मलबा और पानी नाली में ना बहकर नाली से ऊपर सड़क पर बहता है। नाली में जब भी पानी बढ़ता है नाली ओवर फ्लो हो जाती है। मलबा कीचड़ पानी सड़क पर जमा होता है, पैरों में लग कर घर में आता है। नाली कभी भी ओवर फ्लो हो जाती है। नाली की सही तरीके से बनावट नही होने के कारण सफाई कर्मी को भी समस्या का सामना करना पड़ता है, गंदे पानी, कीचड़ और मलबे के कारण हमेशा बदबू और गंदगी का अंबार लगा रहता है। गंदा पानी और कीचड़ जमा होने के कारण कई बार आने जाने में भी समस्या का सामना करना पड़ता है।

वार्ड वासियों ने इन मांगों पर किया ध्यानाकर्षण

नाली निर्माण रेवाशंकर चढोकार के घर से आरंभ होकर आयुर्वेदिक अस्पताल की बाउंड्री वॉल के अंतिम छोर तक किया जाए, नाली का साइज 2X3 ( 2 फीट चौड़ाई, 3 फीट गहराई) का होना चाहिए। नाली निर्माण के पहले एक सर्वेक्षण टीम भेजी जाए ताकि वो वार्ड वासियों से बात करके नाली निर्माण उनके अनुसार कराए। नाली निर्माण में किसी भी प्रकार की भ्रष्टाचारी नहीं चलेगी। अति ध्यान विशेष मांग काम निरंतर चालू रहेगा तो भी पूर्ण गुणवत्ता के साथ नाली जब तक वार्ड वासियों के अनुसार नही बनेगी तब तक काम नहीं रुकेगा। कृष्णपुरा वार्ड से महावीर वार्ड की नाली जोड़ने के लिए बड़े पाइप की लाइन बिछाई जाए।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *