Thu. Jun 13th, 2024

[ad_1]

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

एमपी में इन दिनों सियासी उथल-पुथल मची हुई है। धार जिले की बदनावर सीट से बीजेपी के विधायक रहे भंवर सिंह शेखावत ने मप्र के उद्योग मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह दत्तीगांव के संघर्ष छिड़ा हुआ है। भंवर सिंह शेखावत ने मीडिया से चर्चा में सार्वजनिक तौर पर मंत्री दत्तीगांव पर बदनावर में जमीनों पर कब्जा करने और जुआ, सट्‌टा खिलवाने के आरोप लगाए। मंत्री दत्तीगांव ने भी भंवर सिंह के आरोपों पर पलटवार करते हुए उन्हें लीगल नोटिस भेजने की बात ट्वीट कर लिखी है।

सबसे पहले जानिए कि भंवर सिंह के किस बयान पर भड़के दत्तीगांव
शुक्रवार को भंवर सिंह शेखावत ने मीडिया से चर्चा में कहा – शेखावत ने कहा- भारतीय जनता पार्टी के मंत्रियों पर हमने कभी इतने भ्रष्टाचार के आरोप नहीं सुने जो आज ज्योतिरादित्य के साथ जो लोग आए लोगों पर लग रहे हैं। उन लोगों ने खुलेआम लूट मचा रखी है। आज बदनावर के अंदर हमारे राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने पूरी जमीनों पर कब्जा करना, सारे खदानों पर कब्जा करना, अवैध रूप से खनन करना सब चालू कर दिया है। जुआ, सट्टा, खुलेआम चला रहे हैं। इनके आने के बाद में पार्टी की बदनामी हो रही है। पार्टी की मूल अवधारणा के साथ जो लोग जुड़े हैं उनके मन को पीड़ा हो रही है। यही बात तो हम संगठन को बता रहे हैं। कार्यकर्ता अपनी बात संगठन से कह रहा है कि भई सुनिए, अगर आप समय रहते नहीं चेते तो, यही कारण थे जब 2018 में शिवराज जी की सरकार चली गई थी। जिन लोगों ने पिछले बार सरकार गिराने का काम किया। पार्टी के खिलाफ जिन लोगों ने काम किया ।आप उनको पुरस्कृत कर रहे हो, जिनका जीवन इस पार्टी को खड़ा करने में खप गया, आज उनको आप इतना अपमानित कर के कोने में बिठा दिया। आप बुजुर्गों का सम्मान करना तो सीखें। वे नहीं कह रहे कि हम को टिकट दे दो। यह कोई टिकट की लड़ाई नहीं है। यह पार्टी को जिंदा रखने की और लोग जो समाप्त करने में लगे हैं उनके खिलाफ संघर्ष है।

सिंधिया समर्थकों के बीजेपी में आने से पार्टी की जमीन खोखली हो गई
शेखावत ने कहा- सिंधिया समर्थकों पार्टी में आए हैं तो उनका लोगों ने स्वागत किया है। उनका स्वागत ही नहीं किया बल्कि उनको पार्टी में लाकर उन्हें जिताया भी। लेकिन, उसके बाद पार्टी के अंदर जो स्थितियां बनी हैं वह मन को पीड़ा और दुख देने वाली हैं। आज पार्टी में उनके(सिंधिया समर्थकों) आने से पार्टी मजबूत होती तो हमें समझ में आता। लेकिन, उनके आने के बाद हमारी पार्टी की जमीन ही खोखली हो गई। हमारे सिद्धांत छूट गए। जिस सिद्धांत को लेकर हमने पार्टी का निर्माण किया था। हमारे लोगों ने आज वह हम उससे दूर हो गए।

शेखावत को दत्तीगांव ने दिया जवाब
पूर्व विधायक भंवर सिंह शेखावत के आरोपों पर उद्योग मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह दत्तीगांव ने ट्वीट कर जवाब दिया। दत्तीगांव ने लिखा- सोशल मीडिया के माध्यम से हमारी पार्टी के वरिष्ठ नेता भँवर सिंह शेखावत का मेरे बारे में कथन प्राप्त हुआ। नकारात्मक वक्तव्य देना मेरे स्वभाव में नहीं है लेकिन हर चीज़ की सीमा होती है। शेखावत जी वरिष्ठ एवं अनुभवी नेता हैं। उनके द्वारा दिया गया ये बयान पूरी तरह असत्य और निराधार है और उनके कद को शोभा नहीं देता। उनके ऐसे बयान से पार्टी का कार्यकर्ता हतोत्साहित होता है और विपक्ष को अनर्गल बयानबाज़ी का मौका मिलता है। या तो वे ऐसे बयान किसी के दबाव में दे रहे हैं या अस्वस्थ होने की वजह से संयम खो चुके हैं। दोनों ही सूरत में यह गैर ज़िम्मेदाराना बयानबाज़ी है और जल्द ही उन्हें क़ानूनी नोटिस प्राप्त होगा।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *