Thu. Jun 13th, 2024

[ad_1]

भोपालएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

भोपाल पुलिस कमिश्नरेट ने बालिकाओं की सुरक्षा और आत्मविश्वास के लिए पिछले कई महीनों से बस्तियों में सृजन योजना शुरू की गई। जिसके पांचवें चरण में शनिवार को पिपलानी इलाके में प्रशिक्षण शिविर लगाया गया। शिविर में 150 बालिकाओं ने भाग लिया। अब तक करीब 500 से ज्यादा बालिकाएं प्रशिक्षण ले चुकी हैं। सामुदायिक पुलिस योजना के अंतर्गत पुलिस स्थानीय बस्तियों में सामाजिक संगठनों की मदद से बालिकाओं को आत्मरक्षा और कानूनी ज्ञान का प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाता है। फिल्म और खेलकूद के माध्यम से उनको जागरूक और करियर गाइडेंस भी देते हैं। जिससे बालिकाएं आत्म निर्भर बन सकें। ऐसा ही एक शिविर पिपलानी क्षेत्र में प्रारम्भ किया गया। इस कार्यक्रम में 14 से 20 साल तक बालिकाओं को जोड़ा जाता है, लेकिन अगर इस उम्र के ऊपर या नीचे की बालिका आती हैं तो उन्हें भी प्रशिक्षण दिया जाता है।

बाल व महिला संरक्षण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं जैसे पुलिस दीदी, सृजन, सहयोग के बारे में बताया।

बाल व महिला संरक्षण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं जैसे पुलिस दीदी, सृजन, सहयोग के बारे में बताया।

सृजन योजना का उद्देश्य क्या है?

डीसीपी हेडक्वार्टर विनीत कपूर ने सम्बोधन में किशोरी बालिकाओं को सृजन योजना के उद्देश्य के बारे में बताया। साथ ही पुलिस विभाग ने बाल व महिला संरक्षण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं जैसे पुलिस दीदी, सृजन, सहयोग के बारे में बताया। इन योजनाओं के माध्यम से महिलाओं व बालिकाओं के उत्थान व जागरूकता के लिए लगातार काम किया जा रहा है। बाल अपराध व घरेलू हिंसा रोकने के लिए बालिकाओं व महिलाओं को सशक्त व जागरूक कर रही है।

कार्यक्रम में ACP गोविंदपुरा आदित्य तिवारी, थाना प्रभारी पिपलानी अजय नायर, उदय संस्था की टीम व अन्य अधिकारी सहित करीब 150-180 बालिकाओं व शक्ति समिति की महिलाओं ने भाग लिया।

कार्यक्रम में ACP गोविंदपुरा आदित्य तिवारी, थाना प्रभारी पिपलानी अजय नायर, उदय संस्था की टीम व अन्य अधिकारी सहित करीब 150-180 बालिकाओं व शक्ति समिति की महिलाओं ने भाग लिया।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *