Tue. May 28th, 2024

[ad_1]

भोपाल23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

नरसिंहपुर जिले से भोपाल पहुंचे रोजगार सहायक डॉ. अंबेडकर पार्क में टेंट लगाकर बैठ गए हैं।

मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले से कई रोजगार सहायक बुधवार को भोपाल पहुंचे। उन्होंने करीब 270 किलोमीटर की दूरी 12 दिन में पूरी की। वे पैदल चलकर यहां पहुंचे। उनका कहना है कि 9 हजार रुपए में कुछ नहीं होता। तंख्वाह बढ़ाने के लिए वे CM शिवराज सिंह चौहान से मिलेंगे और उन्हें संकल्प याद दिलाएंगे।

रोजगार सहायकों ने अपनी मांगों पर बात करने यह अनोखी यात्रा निकाली। उन्होंने इस यात्रा का नाम ‘मामा-मामी दर्शन’ संकल्प यात्रा रखा है। सैकड़ों की संख्या में वे बुधवार को नरसिंहपुर से पदयात्रा करके भोपाल पहुंचे। इसके बाद अंबेडकर पार्क में टेंट लगाकर बैठ गए।

24 अप्रैल से शुरू की थी पदयात्रा
रोजगार सहायक वंदना मेहरा ने बताया कि 24 अप्रैल को पदयात्रा शुरू की थी। भोपाल में मुख्यमंत्री चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह से मिलेंगे। दोनों का आशीर्वाद लेंगे। वंदना शुक्ला ने कहा कि पैदल चलकर यहां आए हैं। ताकि, मुख्यमंत्री से मिल सके। उनसे आग्रह करेंगे कि हमारी मांगें पूरी करें, क्योंकि 9 हजार रुपए की सैलरी में परिवार का भरण-पोषण नहीं हो पाता। इसलिए वेतनवृद्धि की जाए। जब तक हम मुख्यमंत्री से नहीं मिल लेते, तब तक यूं ही बैठे रहेंगे।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *