Sun. May 26th, 2024

[ad_1]

शिवपुरी42 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ईदगाह के आगे झांसी रोड किनारे सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर बनाई गईं 15 दुकानें आखिरकार 4 साल 9 महीने बाद नगर पालिका ने 4 बुलडोजर चलाकर ढहा दीं। नगर पालिका ने रविवार को प्रशासन और भारी पुलिस बल की उपस्थिति में कार्रवाई कर 20 करोड़ कीमत की सरकारी जमीन अतिक्रमणमुक्त कराई। राजस्व रिकार्ड में सर्वे नंबर 726 की भूमि नजूल के रूप में दर्ज है।

कार्रवाई के दौरान विरोध होने का डर था, ऐसे में एहतियात बरतते हुए अतिरिक्त एसपी, एसडीएम, एसडीओपी, जिलेभर के थाना प्रभारी और पुलिस बल कार्रवाई के दौरान पूरे समय मौजूद रहा। नगर पालिका सीएमओ केशव सिंह सगर मदाखलत दस्ते के साथ सुबह 9 बजे गोविंद नगर के सामने अतिक्रमण हटाने पहुंचे। इससे पहले ही भारी पुलिस बल तैनात कर दिया।

आईटीआई तिराहा और काली माता मंदिर के पास बेरिकेडिंग कर लोगों का प्रवेश रोक दिया। एएसपी प्रवीण भूरिया, एसडीएम अंकुर रवि गुप्ता, एसडीओपी अजय भार्गव, देहात थाना टीआई, कोतवाली टीआई अमित भदौरिया सहित आसपास के थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद रहे। नगर पालिका के चारों बुलडोजर एक साथ चलाकर 15 दुकानों को तोड़ना शुरू कर दिया। दोपहर 1 बजे तक चली कार्रवाई में सारी दुकानें जमींदोज कर मलबे में समेट दीं।

पहले ऊंची बाउंड्रीवाल फिर पीछे से अवैध दुकानें बनाकर शटर लगा दी थीं : साल 2018 में झांसी रोड किनारे नजूल भूमि सर्वे क्रमांक 726 रकबा 1.48 हेक्टेयर पर एकाएक ऊंची बाउंड्रीवाल बना दी थी। उसके बाद पीछे से अवैध दुकानों का निर्माण शुरू कर दिया था। बिना अनुमति सरकारी जमीन पर कब्जा करके अवैध दुकानें बनती देख प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। आनन फानन में पटवारी से रिपोर्ट लेकर तहसीलदार ने सितंबर 2018 में बेदखली का आदेश जारी कर दिया। नगर पालिका बाउंड्रीवाल कराकर जमीन सुरक्षित कर रही: अतिक्रमण हटाने से पहले एक महीने पहले राजस्व, नगर पालिका और पुलिस टीम ने आकर सीमांकन किया था। नजूल की शासकीय भूमि पर फिर से अतिक्रमण की कोशिश ना हो, इसलिए चूने से लाइनिंग खींची गई है। अब नगर पालिका गड्ढे खुदवाकर बाउंड्रीवॉल बना रही है। इसी के साथ पशुपालन विभाग की जमीन भी सुरक्षित हो जाएगी।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *