Thu. Jun 13th, 2024

[ad_1]

जबलपुर23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हायर एजुकेशन में पढ़ने वाले छात्र स्मार्ट तो है ही पर अब स्मार्ट नकलची भी बन गए हैं। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में चल रही परीक्षा के दौरान कई छात्र स्मार्ट गैजेट से नकल करते हुए पकड़े गए हैं। ऐसे में कहा जा सकता है कि अब नकल के मामले में छात्र हाईटेक होते जा रहे हैं और पास होने के लिए वह तमाम दांव- पेच अजमा रहे हैं जिससे कि वह उत्तीर्ण कर सके। वही दूसरी और विश्वविद्यालय प्रबंधन का कहना है कि नकल रोकने के लिए हमारे द्वारा तमाम प्रयास किए गए हैं, जो भी छात्र नकल करते हुए पकड़ा गए है, उसे फेल करते हुए परीक्षा में रोक लगाई गई है।

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में चल रही परीक्षाओं के दौरान नकल के 25 से अधिक प्रकरण बनाए गए हैं। इस कड़ी में छात्र मैजिक पेन, स्मार्ट वॉच और मोबाइल आदि से नकल करते हुए पकड़े गए। हाल ही में परीक्षा के दौरान 100 से अधिक नकल के प्रकरण दर्ज किए गए जिसमें कि 25 फ़ीसदी से अधिक हाईटेक तकनीक के थे। इस तरह से नकल करते देखकर परीक्षक भी हैरान रह गए। दरअसल परीक्षाओं पर नजर रखने के लिए कोई सेंट्रल मॉनिटरिंग की व्यवस्था सीधे रूप से नहीं की गई है, परीक्षा हॉल में लगे प्रोफेसर ही परीक्षा के दौरान छात्रों पर नजर रखते हैं।

जानकारी के मुताबिक रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में सेंट्रलाइज मॉनिटरिंग सिस्टम अभी उपलब्ध नहीं है। विश्वविद्यालय 70 से अधिक केंद्रों में परीक्षा करवा रहा है, पर परेशानी की बात यह है कि विश्वविद्यालय अभी इतना हाईटेक नहीं हुआ है कि वह सेंट्रलाइज मॉनिटरिंग की व्यवस्था कर पाया हो।

केस नंबर 1:-

B.Ed एवं BSC की परीक्षा में 1 छात्र ने कंपास में पेंसिल से नकल लिख रही थी, कंपास को जब पर्यवेक्षक ने ध्यान से देखा तो पता चला कि छात्र ने कंपास में फार्मूले और उत्तर कुंजी लिख रखी थी। इसके बाद पर्यवेक्षक ने कंपास को जप्त करते हुए छात्रों को परीक्षा से उत्तीर्ण कर दिया।

केस नंबर 2 :-

एमएलबी के परीक्षा में 1 छात्र ने एडमिट कार्ड के पीछे नकल लिख रखी थी। छात्र जब बार-बार एडमिट कार्ड को पलट रहा था, उस दौरान टीचर की नजर उस पर पड़ी, संदेह होने पर जब एडमिट कार्ड की जांच की तो पता चला कि मैजिक पेन से इसमें आंसर लिखे गए थे, लाइट मारने पर एडमिट कार्ड में साफ नजर आया कि छात्र ने उसमें आंसर लिखे हुए थे।

केस नंबर 3-

बीकॉम की परीक्षा में 1 छात्र स्मार्ट वॉच के माध्यम से नकल करते हुए पकड़ा गया। छात्र ने स्मार्ट वॉच मेमोरी में अंसार स्टोर कर रखे थे। जिसका कि जांच के दौरान खुलासा हुआ।

वर्तमान में रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में एमएलबी, बीए, बीएड, बीएससी, एमबीए, बीकॉम, बीएससी, बीबीए की परीक्षा चल रही है, और इन परीक्षा में मैजिक पेन, स्मार्ट वॉच कंपास, मोबाइल ब्लूटूथ का इस्तेमाल छात्रों को करते देखा जा रहा है।

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के कुलसचिव दीपेश मिश्रा ने बताया कि इस हाईटेक युग में छात्र भी हाईटेक हो गए है, जिसकी कल्पना हम भी नहीं करते है। एक छात्र ने तो अपने आंसर शीट के पीछे ही स्मार्ट पेन से आंसर लिख डाले और फिर बाद में पकड़ा गया। ऐसे सभी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनकी परीक्षा में रोक लगाई गई है।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *