Sat. Jun 22nd, 2024

[ad_1]

नर्मदापुरमएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

जिले में रेत का अवैध कारोबार जोरो पर जारी है। चोरी से अवैध उत्खनन कर माफिया रेत का परिवहन कर रहे है। बड़े पैमाने पर बांद्राभान, घानाबड़,रायपुर, तवा पुल, डोंगरवाडा पुलघाट, करबला क्षेत्र से रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्राली पूरी रात से सुबह तक सड़कों पर दौड़ती हैं। जो कि शहर के विभिन्न क्षेत्रों में पुलिस विभाग के लगे सीसीटीवी कैमरे में भी कैद होती हैं, सिर्फ कुछ को ही क्यों पकड़ा जाता है?

शुक्रवार को भी शहरी तहसीलदार अनिल पटेल एक और ग्रामीण तहसीलदार ने चोरी से रेत परिवहन करते 3 ट्रैक्टर-ट्रॉली को पकड़ा। ग्रामीण तहसीलदार द्वारा पकड़ने 3 ट्रैक्टर ट्रॉली में से 2 ड्राइवर वाहन लेकर भागने में कामयाब हो गए। 1-1 ट्रैक्टर ट्रॉली को पकड़कर कार्रवाई की गई। शहरी तहसीलदार द्वारा पकड़े ट्रैक्टर-ट्रॉली के मालिक चंद्रशेखर उर्फ चंदू बाबरिया (35) ने कीटनाशक पीकर जान देने की कोशिश की। हालात बिगड़ने पर उसे शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसे आईसीयू में रखा गया है। जहर पीने वाला युवक चोरी से रेत उत्खनन कर परिवहन करता है। जिसके ट्रैक्टर-ट्रॉली को तहसीलदार अनिल पटेल ने 2 बार और एक बार खनिज अधिकारी पकड़ चुके है। इस मामले में सोशल मीडिया पर एक राजस्व अधिकारी पर डिमांड करने की चर्चा भी आई। हालांकि युवक ने पुलिस व तहसीलदार को बयान में ऐसा कुछ नहीं बताया है। ट्रैक्टर-ट्रॉली के लोन का कर्ज होने से जहर पीने की बात सामने आ रहीं है।

तहसीलदार अनिल पटेल ने बताया कि युवक चंदू के वाहन को रेत चोरी व अवैध परिवहन करते पकड़ चुका हूं। ट्रैक्टर-ट्रॉली छुड़ाने के लिए जबरन दबाव बनाने का प्रयास है। हमने वैधानिक कार्रवाई की है। ग्रामीण तहसीलदार ने 3 ट्रैक्टर-ट्रॉली पकड़े थे। जिसमें दो भाग गए।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *