Tue. May 21st, 2024

[ad_1]

नर्मदापुरम2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
पूर्वमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता सरताज सिंह सोफे पर बैठे रहे। बारिश से बचने कुर्सी सिर पर ढकी गई। - Dainik Bhaskar

पूर्वमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता सरताज सिंह सोफे पर बैठे रहे। बारिश से बचने कुर्सी सिर पर ढकी गई।

पूर्व मंत्री भाजपा के वरिष्ठ नेता, मीसाबंदी रहे स्वर्गीय मधुकर राव हर्णे की श्रद्धांजलि सभा का शुक्रवार को आयोजन रखा गया। जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रभारी मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह, सांसद राव उदय प्रताप सिंह, विधायक डॉक्टर सीतासरन शर्मा, विजय पाल सिंह राजपूत, प्रेमशंकर वर्मा, भाजपा जिला अध्यक्ष माधवदास अग्रवाल, पूर्व मंत्री सरताज सिंह, पूर्व विधायक सविता दीवान शर्मा, महिला मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष माया नारोलिया समेत तमाम नेता, गणमान्य नागरिक व आमजन शामिल हुए। सीएम के आने के कुछ मिनिट पहले अचानक बारिश शुरू हो गई। जिससे गार्डन में मौजूद लोग इधर-उधर भागकर दिखे। कुछ कुर्सी सिर पर रखकर वहीं खड़े हो गए।

बारिश से बचने मौजूद कुछ लोग सिर पर कुर्सी रखकर खड़े हो गए।

बारिश से बचने मौजूद कुछ लोग सिर पर कुर्सी रखकर खड़े हो गए।

पूर्व मंत्री सरताज सिंह सोफे पर बैठे रहे। कुछ शुभचिंतक सरताज सिंह के पास पहुंचे और कुर्सी सिर पर रखकर खड़े हो गए। ताकि बारिश से उन्हें बचाया जा सकें। कुछ देर बाद सरताज सिंह को उनके शुभचिंतक मंच के पास ले आएं। सीएम शिवराज सिंह भी छाता लेकर गार्डन में श्रद्धांजलि देने पहुंचे। उन्होंने मंच पर पहुंचते ही पूर्व मंत्री सरताज सिंह से मिलकर उनके हाल-चाल जाने। फिर पूर्व मंत्री हर्णें को श्रद्धांजलि दी।

ज्ञान, भक्ति और कर्म की त्रिवेणी के संगम थे दादा मधुकर राव

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा सदैव प्रसन्न मुद्रा में रहने वाले दादा मधुकर राव हर्णे का जीवन यशस्वी रहा है। दादा सहज, सौम्य, सरल और स्नेही के साथ ही आत्मीयता के भाव से सबको अपनापन देते थे। इसीलिए सभी को अपने लगते थे। आनंद और प्रेम से परिपूर्ण उनका जीवन समाज और देश के लिए समर्पित रहा है। भारत माता के प्रति सदैव उनका लगाव रहता था। उनके गीत मनमोह लेते थे। दादा हर्णे ज्ञान, भक्ति और कर्म के त्रिवेणी संगम थे। हमेशा दादा को मधुर गीतों में, अनोखी हंसी में, याद करते रहेंगे। हमारे भी कर्तव्य हैं कि नर्मदापुरम में उनकी स्मृति में क्या किया जाए यह हम मिलकर तय करेंगे। दादा को ऐसे ही नहीं भूल जाएंगे। श्रद्धांजली सभा में शामिल होने से पहले मुख्यमंत्री चौहान ने पूर्व मंत्री स्वर्गीय मधुकर राव हर्णे के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। ईश्वर से स्व. हर्णे की दिवगंत आत्मा की शांति और उनके परिजन को यह दुख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की है। दादा हर्णे की पत्नी माधुरी हर्णे, परिवार पुत्र प्रशांत हर्णे, प्रसन्न हर्णे व परिजन उपस्थित रहें।

श्रद्धांजलि सभा में जिले के प्रभारी व खनिज साधन मंत्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह, सांसद राव उदय प्रताप सिंह, नर्मदापुरम विधायक डाॅ. सीतासरन शर्मा, सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह, सिवनीमालवा विधायक प्रेम शंकर वर्मा, पिपरिया विधायक ठाकुर दास नागवंशी, दर्शन सिंह चौधरी, माया नारोलिया, माधव दास अग्रवाल नगर पालिका अध्यक्ष नीतू यादव, विभिन्न धर्मों के धर्मगुरूओं के साथ ही अन्य स्थानाें से क्षेत्र के अनेक जनप्रतिनिधि, व गणमान्य नागरिक शामिल रहे।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *